उत्तराखंड में चालू हो रही हैं चार नई एमडीएफ लाइने

person access_time   3 Min Read

उत्तराखंड भारत में एमडीएफ उत्पादन का सबसे बड़ा मैन्युफैक्चरिंग हब बनता जा रहा है। प्लाई रिपोर्टर के अध्ययन से पता चलता है कि, राज्य में चार हाई कैपेसिटी वाली प्रोडक्शन लाइनें स्थापित होने जा रही हैं, जो 500 क्यूबिक मीटर क्षमता से ऊपर के कन्टिन्यिुअस लाइनें हैं। एमडीएफ के फ्रंट रनर ब्रांड, एक्शन टेसा राज्य में 600 क्यूबिक मीटर प्रति दिन से अधिक क्षमता वाले अपनी चौथी प्रोडक्शन लाइन स्थापित करने जा रहा है। अपनी चौथी लाइन चालू करने के साथ, एक्शन टेसा भारत में एमडीएफ का सबसे बड़ा उत्पादक बन जाएगा।

क्रॉसबॉन्ड भी राज्य में एमडीएफ मैन्युफैक्चिरिंग की एक कंटिन्युअस लाइन स्थापित करने जा रही है। मेट्रो डेकोरेटिव प्राइवेट लिमिटेड के निदेशक श्री अमन गर्ग ने प्लाई रिपोर्टर से बात करते हुए कहा कि उनका प्लांट 25 एकड़ में फैला होगा और कंपनी का कंटिन्युअस प्रेस से 550 क्यूबिक मीटर प्रतिदिन की ऑपरेशनल कैपेसिटी होगी।

ई3 ग्रुप उत्तराखंड के काशीपुर में 550 क्यूबिक मीटर प्रतिदिन की नई एमडीएफ लाइन स्थापित कर रहा है। कंपनी के चेयरमैन श्री संजय गर्ग का कहना है कि उनका प्लांट 2023 तक व्यावसायिक उत्पादन शुरू कर देगा। उत्तराखंड में एक अन्य मैन्यूफैक्चरिंग यूनिट भी स्थापित होने की सूचना है। सभी चार नए एमडीएफ प्लांट की 2023-24 तक उत्पादन शुरू होने की उम्मीद है, जो भारत में प्रति दिन लगभग 2500 क्यूबिक मीटर एमडीएफ क्षमता जोड़ देगा।

उत्तराखंड भारत में एमडीएफ बोर्डं का एक प्रमुख उत्पादक राज्य है, जहां तीन एमडीएफ मैन्यूफैक्चरिंग इस्टैब्लिशमेंट जैसे बालाजी एक्शन बिल्डवेल, ग्रीनपैनल इंडस्ट्रीज और शिरडी इंडस्ट्रीज है, और वे राज्य में सफलतापूर्वक अपना संचालन कर रहे हैं।

You may also like to read

shareShare article
×
×